टीम इंडिया का गोल्ड का सपना टूटा, महिला टीम कॉमनवेल्थ गेम्स के फाइनल में 9 रन से हारी

बर्मिंघम. कॉमनवेल्थ गेम्स के फाइनल मुकाबले में ऑस्ट्रेलिया ने टीम इंडिया को 9 रन से हराकर गोल्ड मेडल जीत लिया। टीम इंडिया को सिल्वर मेडल से ही संतोष करना पड़ा। बर्मिंघम के एजबेस्टन मैदान में फाइनल मैच आखिरी ओवर तक गया, लेकिन भारत ऑस्ट्रेलिया द्वारा दिए 162 रनों के टारगेट को हासिल नहीं कर सका।

ऑस्ट्रेलिया ने इस मैच में पहले बैटिंग करते हुए 161 का स्कोर बनाया था, जवाब में भारतीय टीम आखिरी तक लड़ी लेकिन 152 रन ही बना पाई। टीम इंडिया के लिए सबसे ज्यादा रन हरमनप्रीत कौर ने बनाए उन्होंने 43 गेंद में 65 रन की पारी खेली। ऑस्ट्रेलिया के लिए सबसे ज्यादा 3 विकेट एश्ली गार्डनर ने लिए।

सस्ते में आउट हुए दोनों सलामी बल्लेबाज
भारतीय महिला टीम के दोनों सलामी बल्लेबाज स्मृति मंधाना और शेफाली वर्मा कुछ खास कमाल नहीं कर पाए। मंधाना 7 गेंद में सिर्फ 6 रन बना पाईं और बोल्ड हो गईं। वहीं, शेफाली का कैच छूटा फिर भी वह इस जीवनदान का फायदा नहीं उठा पाईं और 7 गेंद में 11 रन बनाकर पवेलियन लौट गईं।

राधा यादव का कमाल
मैच में राधा यादव ने 2 खिलाड़ियों को अपनी शानदार फील्डिंग के दम पर पवेलियन भेजा। पहले उन्होंने कप्तान मेग लैनिंग को खुद गेंदबाजी करते हुए रन आउट किया तो वहीं, ताहलिया मैक्ग्रा का उन्होंने ऐसा कैच लपका कि कॉमेंटेटर उनको जोंटी रोड्स कहने पर मजबूर हो गए। इसके बाद दीप्ति शर्मा ने भी एक लाजवाब कैच लपकते हुए कपिल देव की याद दिला दी। उन्होंने पीछे दौड़ते हुए बेथ मूनी का कैच लिया। 1983 के वर्ल्ड कप फाइनल में भी कुछ ऐसा ही कैच कपिल देव ने विव रिचर्ड्स का लिया था।

दोनों टीमों की प्लेइंग इलेवन

भारतीय टीम: शेफाली वर्मा, स्मृति मंधाना, जेमिमा रोड्रिगेज, हरमनप्रीत कौर (कप्तान), तानिया भाटिया (विकेटकीपर), दीप्ति शर्मा, पूजा वस्त्राकर, राधा यादव, स्नेह राणा, मेघना सिंह, रेणुका सिंह

ऑस्ट्रेलिया प्लेइंग XI: मेग लैनिंग (कप्तान), एलिसा हीली, बेथ मूनी, रचेल हेंस, ग्रेस हैरिस, ताहलिया मैक्ग्रा, एश्ली गार्डनर, जेस जोनासन, मेगन शूट, डार्सी ब्राउन, एलाना किंग

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *