सीएम कह रहें हैं कि उनसे अवैध खनन नहीं रुक रहा, इससे ही स्पष्ट है कि संत की मौत की जिम्मेदार राज्य सरकार -वसुन्धरा राजे

जयपुर. पूर्व मुख्यमंत्री व भाजपा की राष्ट्रीय उपाध्यक्ष वसुंधरा राजे ने कहा है कि जिस राज्य में संतों के निस्वार्थ समाज को आंदोलन करना पड़े, लोकहित में मांगो को मनवाने के लिए अपनी बली देनी पड़े, तो उस राज्य में इससे बड़ी अराजकता कोई और नहीं हो सकती।

उन्होंने कहा कि घटना के बाद भी मुख्यमंत्री असहाय हो कर खुद स्वीकार करें कि प्रदेश में अवैध खनन नहीं रुक रहा। इससे ही स्पष्ट हो जाता है कि संत की मौत का जिम्मेदार कोई है तो वह राज्य सरकार है। पूर्व सीएम ने कहा कि वे संत विजय बाबा के परलोक गमन से बहुत आहत हैं। ईश्वर उनकी आत्मा को शांति प्रदान करे।

राजे ने मीडिया से बात चीत में कहा कि यदि राज्य सरकार संतों की आवाज को सुनने में 551 दिन का समय नहीं लगाती और समय रहते ही ऐक्शन ले लेती तो आज एक संत की जान नहीं जाती। उन्होंने कहा कि हमारी सरकार ने संत समाज की मांग पर 27 जनवरी 2005 को ब्रज क्षेत्र में अवैध खनन पर रोक लगाई थी, लेकिन कांग्रेस सरकार में आस्था से जुड़े ब्रज क्षेत्र में अवैध खनन फिर से शुरू हो हो गया।

राजे ने कहा कि इस मामले की उच्च स्तरीय जांच हो क्योंकि यदि अधिकारी और सत्ता से जुड़े राजनीतिज्ञ समय रहते ही संतों की बात सुन लेते तो एक संत की जान नहीं जाती।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *