राजस्थान में मिले मंकी पॉक्स के दो संदिग्ध केस

जयपुर. राजस्थान में मंकी पॉक्स के दो संदिग्ध केस सामने आए हैं। दोनों संदिग्धों को जयपुर के आरयूएचएस हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया है। दोनों के शरीर पर दाने नजर आ रहे हैं। एक मरीज अजमेर जिले के किशनगढ़ का है और दूसरा भरतपुर जिले का रहने वाला है।

आरयूएचएस के अधीक्षक डॉ. अजीत सिंह ने बताया कि एक 20 साल का युवक किशनगढ़ से रविवार देर रात रैफर होकर आया था। वह बेंगलुरु में पढ़ाई करता है और उसे बुखार आने व शरीर पर दाने दिखने के बाद संदिग्ध मानते हुए जयपुर रेफर किया गया। सतर्कता बरतते हुए मरीज को आईसोलेट किया है। उसके सैंपल मंकी पॉक्स की जांच के लिए एसएमएस मेडिकल कॉलेज भिजवाए गए हैं।

मरीज की अभी कोई ट्रेवल हिस्ट्री भी सामने नहीं आई है। उन्होंने बताया रिपोर्ट आने के बाद ही कंफर्म होगा कि मंकी पॉक्स का वायरस है या चिकन पॉक्स। आरयूएचएस में ही एक अन्य युवक भी सोमवार सुबह भर्ती हुआ है, जो भरतपुर का रहने वाला है। इसके हल्का बुखार होने के साथ ही शरीर पर कुछ ही रेशेज थे, लेकिन उसे भी संदिग्ध मानते हुए भर्ती किया गया है। दोनों के सुबह सैंपल लेकर जांच के लिए भिजवा दिए है

देश में मंकीपॉक्स से पहली मौत की पुष्टि
केरल के त्रिशूर में मंकीपॉक्स के कारण हुई एक युवक की मौत देश में इस वायरस से मृत्यु का पहला मामला है। स्वास्थ्य विभाग ने सोमवार को इसकी पुष्टि करते हुए कहा कि शनिवार को युवक ने इस घातक बीमारी के कारण दम तोड़ दिया। पुणे में नेशनल इंस्टीट्यूट आॅफ वायरोलॉजी ने इसकी पुष्टि की। केरल में संस्थान की क्षेत्रीय इकाई में प्रारंभिक पुष्टि के बाद उसके नमूनों का परीक्षण किया गया।

भारत में यह पहली पुष्ट मंकीपॉक्स मौत है।
राज्य की स्वास्थ्य मंत्री वीना जॉर्ज ने रविवार को खुलासा किया था कि 22 जुलाई को केरल पहुंचने से पहले 22 वर्षीय युवक संयुक्त अरब अमीरात में मंकीपॉक्स से संक्रमित पाया गया था। सरकार ने स्वास्थ्य विभाग को रिपोर्ट देने में हुई देरी के कारणों की जांच का आदेश दिया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *