मंकीपॉक्स को लेकर राजस्थान सतर्क जयपुर में जांच के लिए शुरू हुई लैब, 24 घंटे में मिलेगी रिपोर्ट

जयपुर. मंकीपॉक्स के बढ़ते मामलों को देखते हुए केन्द्र सरकार की गाइडलाइन के बाद राजस्थान में भी सतर्कता बढ़ा दी गई है। जयपुर के एसएमएस मेडिकल कॉलेज में इस बीमारी की जांच के लिए लैब शुरू कर दी है। मेडिकल कॉलेज के प्राचार्य डॉ. राजीव बगरहट्टा की अध्यक्षता में हुई इस बैठक में लोगों को इस बीमारी से जागरूक करने के लिए अभियान चलाने का निर्णय किया गया।

डॉ. बगरहट्टा ने बताया कि अगर जयपुर में कोई केस मंकीपॉक्स का आता है तो उसके लिए आरयूएचएस में अलग से डेडिकेटेड वार्ड बना रखा है, जहां मरीज को भर्ती किया जा सकेगा। डॉ. बगरहट्टा ने बताया कि लैब खुलने के बाद हमें यहां कलेक्ट किए जाने वाले सैंपल को जांच के लिए पुणे की लैब में नहीं भेजने पड़ेंगे। हमने मेडिकल कॉलेज में ही इसकी व्यवस्था शुरू कर दी है।

सैंपल कलेक्शन का काम एसएमएस मेडिकल कॉलेज में ही है। जयपुर के अलावा अन्य दूसरे बड़े शहरों में भी सैंपल कलेक्शन सेंटर खोले जाएंगे, इसके लिए हेल्थ डिपार्टमेंट को पत्र लिखेंगे, ताकि सैंपल जांच के लिए जयपुर भेजे जा सके। मेडिकल कॉलेज के माइक्रोबायोलॉजी डिपार्टमेंट की एचओडी और सीनियर प्रोफेसर डॉ. भारती मल्होत्रा ने बताया कि देश में अब 15 लैब में मंकीपॉक्स वायरस की जांच की जा रही है, जिसमें जयपुर भी शामिल है। सैंपल मिलने के 24 घंटे के दौरान हम रिपोर्ट देने में सक्षम है। गौरतलब है कि देश में अब तक मंकीपॉक्स के 4 केस सामने आए हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *