शाह ने वसुंधरा राजे की तारीफ की उनके कार्यकाल को बताया सुशासन

जोधपुर. केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे के कार्यकाल को सुशासन बताते हुए उनके द्वारा किए गए प्रदेश के विकास की खूब तारीफ की। जैसे ही शाह ने पूर्व सीएम राजे का नाम लिया वहां मौजूद विशाल जन समूह ने जोरदार तालियां बजाई। केंद्रीय गृह मंत्री ने कहा कि वसुंधरा जी ने मुख्यमंत्री रहते हुए सबसे बड़ा काम भामाशाह स्वास्थ्य बीमा योजना में गरीबों का मुफ़्त इलाज करवा कर किया।

उन्होंने जरूरतमंद लोगों को अन्नपूर्णा रसोई के माध्यम से 5 रुपए में नाश्ता और 8 रुपए में भरपेट भोजन दिया। प्रदेश की सड़कों को टोल फ्रÞी किया। किसानों की बिजली फ्रÞी की। पानी बचाने के लिए जल स्वावलंबन अभियान चलाया। वसुंधरा ने ग्रामीण गौरव पथ बनाए। सिर्फ वादा ही नहीं किया, वसुंधरा ने किसानो का 50 हजार तक का कर्ज़ा भी माफ किया।

अनुसूचित जाति व जन जाति के व्यक्तियों को 2 लाख तक का ऋण देकर उन्हें रोजगार का अवसर दिया, जो बेरोजगारी दर वसुंधरा के शासन के समय सिर्फ़ 5.4 प्रतिशत थी आज अशोक गहलोत के समय में वह बढ़कर 32 प्रतिशत हो गई।

2023 में भाजपा सरकार बनाने के लिए एकमुखी होना होगा: राजे
पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने कहा है कि 2003 में ऐतिहासिक जनमत के साथ भाजपा की सरकार बनी और उन्हें प्रदेश की पहली महिला मुख्यमंत्री बनने का सौभाग्य प्राप्त हुआ, तब से लेकर अब तक राजस्थान में एक बार भी कांग्रेस को पूर्ण बहुमत नहीं मिला। उन्होंने पीएम नरेंद्र मोदी के 8 वर्षों में श्रेष्ठ भारत बनाने के प्रयासों की तारीफ करते हुए सर्जिकल स्ट्राइक,धारा 370 व राम मंदिर निर्माण जैसे अपूर्व निर्णयों से देश को सुदृढ़ बनाने के लिए केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह का आभार जताया।

यहां भाजपा कार्यकर्ता सम्मेलन में राजे ने कहा कि 2023 में घर बैठे भारी बहुमत से सरकार बन जाएगी, इस खुशफहमी में न रहकर हमें एकमुखी होना होगा। प्रेस कॉन्फ्रÞेन्स से बाहर निकल कर पब्लिक कॉन्फ्रÞेन्स भी करनी होगी। हम तभी सफल होंगे।

योजनाओं के नाम बदले, अब जनता इन्हें बदल देगी
राजे मुख्यमंत्री अशोक गहलोत पर जम कर बरसीं। उन्होंने कहा कि महिला और दलित अत्याचारों में प्रदेश पहले नम्बर पर है। 3 प्रतिशत बेरोजगारों को भी बेरोजगारी भत्ता नहीं मिला। बिजली नहीं है। कर्ज बढ़कर 472000 करोड़ हो गया। किसानों की कर्जमाफी नहीं हुई। लोकतंत्र सेनानी पेंशन, जल स्वावलम्बन अभियान, भामाशाह, गौरव पथ जैसी योजना बंद कर दी। भामाशाह स्वास्थ्य बीमा का नाम बदल कर चिरंजीवी व अन्नपूर्णा का नाम बदल कर इंदिरा रसोई कर दिया। अब जनता ऐसी सरकार को बदल देगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *