नाक से दिए जाने वाले कोरोना टीके ‘सीएचएडी-36’ को मंजूरी

नई दिल्ली. केंद्रीय औषधि मानक नियंत्रण संगठन (सीडीएससीओ) ने कोरोना संक्रमण से निपटने के लिए भारत में विकसित एवं निर्मित नाक से लिए जाने वाले टीके ‘सीएचएडी-36’ को मंजूरी दे दी है।

केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री मनसुख मांडविया ने मंगलवार एक ट्वीट में यह जानकारी दी। उन्होंने कहा कि नाक से प्रयोग किए जाने वाले ‘सीएचएडी-36’ टीके से कोरोना संक्रमण के विरुद्ध भारत के संघर्ष को बल मिलेगा।

मांडविया ने कहा कि भारतीय फार्मा कंपनी भारत बायोटेक द्वारा निर्मित ‘सीएचएडी-36’ कोरोना टीके को सीडीएससीओ ने मंजूरी दे दी है। इसका प्रयोग कोरोना में आपात स्थिति में प्राथमिक स्तर पर किया जा सकता है।

टीके का प्रयोग 18 वर्ष से अधिक की आयु के लोगों के लिए मंजूर किया गया। उन्होंने कहा कि कोरोना के खिलाफ संघर्ष में यह कदम सामूहिक प्रयासों को मजबूती देगा। विज्ञान आधारित प्रणाली और सबके प्रयास से हम कोरोना के विरूद्ध संघर्ष में जीत प्राप्त करेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *