फ्लोर टेस्ट के बीच बिहार में CBI के छापे, राजद के 6 नेताओें के ठिकानों पर की कार्रवाई

  • सीबीआई-ईडी ने देश में कुल 42 ठिकानों पर की कार्रवाई, गुरुग्राम के मॉल के बारे में तेजस्वी यादव ने कहा, यह मेरा नहीं

नई दिल्ली. सीबीआई और ईडी की टीमों ने बुधवार को देश में 42 ठिकानों पर छापे मारे। सीबीआई की टीमों ने अकेले बिहार में ही राजद के 5 नेताओं समेत 25 ठिकानों घर छापा मारा। इनमें 2 राज्यसभा सांसदों के अलावा पूर्व विधायक और राजद के फाइनेंसर अबु दोजाना भी शामिल हैं। टीम गुरुग्राम के एक मॉल भी पहुंची है।

सीबीआई सूत्रों का कहना है कि मॉल तेजस्वी यादव का है। इसे दोजाना की कंपनी बना रही है। इधर, विधानसभा में डिप्टी सीएम तेजस्वी ने कहा मेरा मॉल नहीं है, उसका तो उद्घाटन भाजपा सांसद ने किया था। लालू यादव के करीबी और बालू माफिया सुभाष यादव के घर भी छापा मारा गया है। यह मामला जमीन के बदले रेलवे में रोजगार घोटाले से जुड़ा है। राजद ने बिहार विधानसभा में फ्लोर टेस्ट से ठीक पहले पड़े इन छापों को बदले की कार्रवाई बताया है।

उधर, ईडी ने खनन घोटाले में एक्शन लिया है। झारखंड में रांची, दिल्ली और तमिलनाडु में 17 जगहों पर ईडी ने दबिश दी। झारखंड के सीएम हेमंत सोरेन के करीबी रहे प्रेम प्रकाश के रांची स्थित ठिकानों पर ईडी ने छानबीन की।

प्रेम प्रकाश के घर से मिली दो एके-47 राइफलें
प्रेम प्रकाश के घर तिजोरी से 2 एके-47 राइफल बरामद की गई हैं। 60 कारतूस भी मिले हैं। इसकी तस्वीरें सामने आई हैं। रांची के अरगोड़ा थाना प्रभारी विनोद कुमार का दावा है कि दोनों एके-47 और कारतूस जिला पुलिस के जवानों के हैं। देर शाम दो पुलिसकर्मियों को सस्पेंड कर दिया गया।

नौकरी के बदले जमीन घोटाले के मामले में निशाने पर आए नेता
सीबीआई के आधिकारिक सूत्रों ने कहा कि बिहार में सत्तारूढ़ राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के कोषाध्यक्ष और विधान पार्षद सुनील सिंह, राज्यसभा सांसद अशफाक करीम और फैयाज अहमद के पटना समेत 4 ठिकानों पर सुबह छापेमारी की गई। सीबीआई ने तीनों नेताओं के पटना के अलावा पूर्णिया, मधुबनी और भागलपुर के ठिकानों पर एकसाथ छापेमारी की।

संभवत: यह छापेमारी नौकरी के बदले जमीन घोटाला मामले में की जा रही है। इस बीच, राजद के कोषाध्यक्ष और बिस्कोमान के अध्यक्ष सुनील सिंह ने इसे बदले की कार्रवाई बताया और कहा कि उन्हें फंसाने की कोशिश हो रही है। सीबीआई के लोगों ने उन्हें घर से बाहर कर दिया है और वे घर में घुसकर तलाशी ले रहे हैं।

गौरतलब है कि सीबीआई ने नौकरी के बदले जमीन घोटाला मामले में पूर्व रेल मंत्री एवं राजद के राष्ट्रीय अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव, उनकी पत्नी एवं बिहार की पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी, दो पुत्रियों, नौकरशाह और कुछ अन्य व्यक्तियों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की थी। आरोप के अनुसार, लालू प्रसाद यादव के रेल मंत्री रहते हुए रेलवे में ग्रुप डी की बहाली में लोगों को नौकरियां दिलाई गईं और इसके बदले में जमीन लालू परिवार के लोगों के नाम पर करवा दी गईं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *