खनिज विभाग की तारीफ से बौखलाए विपक्ष के दुष्प्रचार से शायद सांगोद विधायक भी प्रभावित हो गए: भाया

  • खनन विभाग के मंत्री भाया ने जारी किया अवैध खनन के खिलाफ कार्रवाई और राजस्व की उपलब्धियों का विवरण

कोटा. सांगोद विधायक भरत सिंह की ओर से मुख्यमंत्री को लिखे पत्र में लगाए आरोपों को लेकर खान, पेट्रोलियम व गौपालन विभाग मंत्री प्रमोद जैन भाया ने भी शुक्रवार शाम एक बयान जारी कर अपनी बात कही। उन्होंने कहा कि हमारी पार्टी के सीनियर सांगोद विधायक भरत सिंह ने मुझ पर आरोप लगाए हैं। यह बहस का विषय नहीं है। वह तो हमारी पार्टी के वरिष्ठ नेता हैं, जिनकी बात या आपत्ति का बुरा नहीं मानना सीख लिया है।

लेकिन बड़ी उल्लेखनीय बात यह है कि प्रदेश भर में अवैध खनन के खिलाफ कार्रवाई व अन्य समस्त कोर गतिविधियों सहित राजस्व वसूली में हमारी सरकार ने जो प्रतिमान स्थापित कर दिए, वैसा पिछली भाजपा सरकार से नहीं हो सका। तभी तो भारत सरकार ने हमारे खनिज विभाग को राष्ट्रीय पुरस्कार से नवाजा, जिससे हमारे लोकप्रिय मुख्यमंत्री को मिल रही अनुमोदना तथा बधाईयों से विपक्ष बौखला गया। कदाचित हमारे सीनियर मार्गदर्शक सांगोद विधायक भरत सिंह कहीं इनके दुष्प्रचार से प्रभावित हो गए होंगे, इस वजह से उनकी नाराजगी जाहिर हुई है।

हकीकत यह है कि मेरे मंत्री कार्यकाल में अवैध खनन के विरूद्ध प्रभावी कार्यवाही की गई, जिसका स्पष्ट चित्रण खनन राजस्व में बढोतरी तथा दर्ज प्रकरणों के निम्नांकित मानचित्र से देखा जा सकता है। यह भी समझना होगा, कि राजस्व तभी बढ़कर आया, जब हमारी सरकार ने अवैध खनन के ऊपर कड़ा अंकुश लगाकर कार्यवाही की। पिछले वित्तीय वर्ष में कोरोना महामारी के बावजूद लक्ष्य से 1000 करोड़ रुपए अधिक का राजस्व प्राप्त किया गया। अवैध खनन के खिलाफ हमारी सरकार द्वारा समय-समय पर विशेष अभियान भी चलाए गए है।

गत अभियान मई 2022 में चलाया गया, जिसमें खान विभाग के साथ-साथ पुलिस, वन, राजस्व एवं परिवहन विभाग के संयुक्त तत्वाधान में गठित विशेष टीमों द्वारा सख्त कार्यवाहियां की गई है। उसी का परिणाम है कि केंद्रीय खान मंत्री ने लोकसभा में भी बताया कि राजस्थान में अवैध खनन के विरूद्ध प्रभावी कार्यवाही अमल में लाई गई जिससे अवैध खनन कम हुआ है। केन्द्र सरकार ने खान विभाग की गत तीन वर्षों की उपलब्धियों को स्वीकार करते हुए खुली नीलामी के माध्यम से नए खनन पट्टे आवंटन व खनन राजस्व के क्षेत्र में पूरे देश में दूसरा स्थान प्राप्त करने पर मात्र 10 दिन पहले ही 13 जुलाई को दिल्ली बुलाकर खान विभाग राजस्थान एवं मुझे सम्मानित किया गया है। भाया ने अपने जवाब के साथ भाजपा के पांच साल के शासन व उनके 43 महीने के कार्यकाल में हुए खनिज विभाग के कामकाज का तुलनात्मक विवरण भी जारी किया है।

‘सोरसन व गोडावण को लेकर कही ये बात’
भाया ने कहा कि, जहां तक गोडावण का विषय है। सोरसन बारां जिले की वन भूमि का हिस्सा है, लेकिन इस क्षेत्र में गत 20-30 साल में कोई गोडावण नहीं देखा गया। जबकि इसी अवधि में झालावाड़, बारां, कोटा जिले विद्युत उत्पादन के क्षेत्र में राज्य की रीढ़ के रूप में उबरकर सामने आए। इस कारण पूरे क्षेत्र में विद्युत लाइनों का जाल बिछ गया है। बिजली लाइन का यह घनघोर नेटवर्क गोडावण के लिए मौत व असमय दुर्घटना का सीधा संदेश है।

इस क्षेत्र में गोडावण के विकास का कोई भी प्रयत्न बारां के विकास को अवरूद्ध करने जैसा होगा, ऐसे में विद्युत तंत्र यदि समाप्त कर दिया गया तो बारां जिला ही नहीं समूचा राजस्थान प्रदेश विकास की दृष्टि से कई दशक पीछे चला जाएगा। भाया ने कहा कि उनके कार्यकाल दौरान सोरसन क्षेत्र में कोई अवैध खनन नही हुआ। मैं और मेरे साथी बारां के मेरे कार्यकाल के दौरान सोरसन के प्रति समर्पित थे, हैं और जीवन पर्यन्त रहेंगे। गोडावण क्षेत्र में कोई अवैध खनन नहीं हुआ।

‘सभी कांग्रेसजनों का सम्मान करता हूं, पार्टी को अपनी मां मानता हूं’
भाया ने कहा, ‘मैं कांग्रेस पार्टी के प्रति सदैव समर्पित रहा हूं। मैं इस पार्टी को अपनी मां मानता हूं। इस दृष्टि से पार्टी में मेरे जितने भी वरिष्ठ कांग्रेसजन हैं मैं उनका मन से सम्मान करता हूं और करता रहूंगा। भरत सिंह ने जो कुछ कहा, वे उनके व्यक्तिगत विचार हैं। भारत का संविधान हर इंसान को अपनी बात कहने और अपने हिसाब से भाषा के उपयोग की स्वतंत्रता प्रदान करता है इसलिए उनके विचार और भाषा पर मैं कोई टिप्पणी नहीं करूंगा।’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *