प्रदेश में सबसे ज्यादा कोटा में बरसा पानी, बीते 24 घंटे में 130 MM बारिश, कई कॉलोनियां जलमग्न, देखें तस्वीरें

कोटा. कोटा में मानसून के इस सीजन में पहली बार लगातार 12 घंटे से ज्यादा बारिश हो रही है। शनिवार दोपहर तक रुक-रुक कर जारी है। रिमझिम झड़ी के चलते लोगों को गर्मी और उमस से राहत मिली और तापमान में गिरावट आई लेकिन बारिश के चलते शहर की सड़कों पर पानी बह निकला।

शहर के कई इलाकों में जलभराव की शिकायतें सामने आने लगी। शहर के पॉश इलाके जवाहर नगर की मेन रोड तो पानी में लबालब भर गई। मेन रोड से ही लोगों को गाड़ियां निकालने में काफी परेशानियों का सामना करना पड़ा। मौसम विभाग के अनुसार प्रदेश में सबसे ज्यादा बारिश पिछले 24 घंटे में कोटा में ही हुई है। कोटा में पिछले 24 घंटे में शनिवार सुबह तक कोटा लाडपुरा क्षेत्र में 130 मिमी बारिश रिकॉर्ड की गई।

इसके अलावा कोटा ग्रामीण के मंडाना में 58, रामगंज मंडी में 57, दीगोद में 50, सांगोद में 46, सुल्तानपुर में 42, पीपल्दा में 32 मिमी बारिश हुई। पूरे प्रदेश भर में बारिश के रिकॉर्ड को देखें तो 24 घंटे में सबसे ज्यादा पानी कोटा लाडपुरा में बरसा।

पिछले तीन-चार दिन से हल्की बारिश रुक रुक कर हो रही थी। गुरुवार को शाम को पानी कुछ देर के लिए बरसा। शुक्रवार दोपहर बारिश का दौर शुरू हुआ जो देर रात तक चला। कुछ देर बारिश बंद हुई और उसके बाद फिर से रिमझिम बारिश का दौर शुरू हुआ। लगातार बारिश के बाद शहर में कई इलाकों में पानी भर गया। जवाहर नगर के अलावा शिवपुरा, त्रिवेणी आवास, बालाजी नगर तृतीय (देवली अरब रोड), हनुमान बस्ती, नयागांव, अनंतपुरा के कुछ इलाके में कॉलोनी और सड़कों पर पानी लबालब भर गया।

स्मार्ट सिटी बनने जा रहे कोटा शहर में शुक्रवार की रात और शनिवार को सुबह 11 बजे तक लगातार हो रही बारिश ने लोगों की मुश्किले बढ़ा दी है। लगातार हुई बारिश के चलते कोटा शहर के विभिन्न इलाकों में दर्जनों कॉलोनी में पानी भरने से लोगों के सामने घरों से निकलने की आफत खड़ी हो गई। बजरंग नगर और देवली अरब रोड क्षेत्र की कई कॉलोनियों में बरसाती पानी का प्रॉपर निकास नहीं होने के चलते इन कॉलोनियों में बरसात का बरसने वाला पानी जहां का जही जमा होता गया।

जिसके चलते पूरा क्षेत्र तालाब जैसा नजर आने लग गया है। इन कॉलोनियों में करीब 3 से 4 फिट तक पानी भर गया है। जिसके कारण लोग घरों में कैद हो गए। पूरी रात बारिश गिरने से लोग जरूरी सामान भी नहीं ला सके। जलमग्न होने वाली कॉलोनियों में बजरंग नगर, गोपाल विहार, त्रिवेणी आवास, बालाजी आवास, विजय नगर, अक्षरधाम सहित अन्य कॉलोनियां शामिल है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *