नहीं लगा नाबालिग बालिका के हत्यारे का सुराग, तलाश जारी, 18 फरवरी को कोटा बंद का आह्वान

पूरे शहर में आक्रोश, जगह-जगह प्रदर्शन व श्रद्धांजलि: आत्महत्या भी कर सकता है हत्यारा, पुलिस इस एंगल पर भी कर रही जांच

कोटा. कोटा के कोतवाली इलाके में 14 साल की नाबालिग छात्रा की हत्या के मामले में आरोपी बुधवार को भी पुलिस गिरफ्त से दूर था। वहीं पुलिस को डर है कि कहीं आरोपी आत्महत्या ना कर ले। इस आधार पर भी पुलिस पड़ताल कर रही है। दरअसल पिछले 4 दिन से आरोपी फरार है और उसका कोई सुराग पुलिस को नहीं लगा। ऐसे में पुलिस तीन चार संभावनाओं पर काम कर रही है। इनमें से एक संभावना पुलिस को यह भी लग रही है कि डिप्रेशन में आकर कहीं आरोपी सुसाइड ना कर ले।

पुलिस ने बताया कि आरोपी प्रोफेशनल अपराधी नहीं है। वारदात को अंजाम देने के बाद डिप्रेशन में आकर वह सुसाइड का कदम भी उठा सकता है। अब तक की पड़ताल में जो बातें पुलिस के सामने आई है उसके आधार पर पुलिस इस एक संभावना को भी अपनी जांच में शामिल कर आरोपी की तलाश कर रही है। ऐसे में पुलिस ने चंबल नदी के किनारे और लहरों में आरोपी की तलाश करवाई। हालांकि अभी तक तो पुलिस के हाथ कुछ नहीं लगा। इसके अलावा अलग-अलग जिलों में भी पुलिस की टीमें दबिश दे रही है।

इसके अलावा दो बातें और ध्यान में रख कर आरोपी की तलाश की जा रही है। आरोपी रुकने के लिए ऐसी जगह तलाशेगा जहां पर उसके पैसे कम लगे या रुकने और खाने के पैसे ना लगे। ऐसे में धर्मस्थलों में भी उसके फोटो और घटना की जानकारी देकर सजग किया गया है। साथ कोटा से लगते हाइवे पर होटल रेस्टोरेंट और ढाबों पर भी तलाश करवाया जा रहा है। इसके अलावा उसके रिश्तेदारों के यहां भी पड़ताल करवाई जा रही है। इसके अलावा दूसरे राज्य में भी उसके जाने की संभावनाओं को देखते हुए टीम लगाई हुई है। इस प्रकरण को लेकर पूरे शहर में आक्रोश व्याप्त होता जा रहा है, जहां व्यापारी कोटा बंद की चेतावनी दे चुके हैं, वहीं कई संगठन आरोपी की गिरफ्तारी के लिए दबाव बना रहे हैं, साथ ही नाबालिग को कई जगह कैंडल मार्च निकालकर श्रद्धांजलि अर्पित की जा रही है।

दो बार कॉल कर बुलाया ट्यूशन के लिए
जानकारी के अनुसार हत्या वाले दिन आरोपी ने सुबह दो बार छात्रा के घर कॉल किया था। रविवार को ट्यूशन की छुट्टी होती है, लेकिन सोमवार को छात्रा के मैथ्स का पेपर था। इसी का फायदा आरोपी टीचर ने उठाया। रविवार के दिन छात्रा की तबीयत भी खराब थी। आरोपी गौरव ने सुबह उसके घर पर कॉल कर छात्रा को ट्यूशन भेजने के लिए कहा। छात्रा की मां ने तबीयत खराब होने की बात कही।

टीचर ने सोमवार को होने वाले पेपर का हवाला दिया। छात्रा पढ़ाई और पेपर को लेकर चिंतित थी। ऐसे में ट्यूशन जाने के लिए तैयार हो गई। बेटी को ट्यूशन जाता देख मां ने भी कहा था कि तबीयत खराब है तो ट्यूशन जाने की कोई जरूरत नहीं। बेटी घर पर रुक गई। आरोपी गौरव ने दूसरी बार कॉल किया। इसके बाद छात्रा ट्यूशन के लिए गई।

18 फरवरी को कोटा बंद का आह्वान
कोटा व्यापार महासंघ के अध्यक्ष क्रांति जैन एवं महासचिव अशोक महेश्वरी ने बताया कि बालिका की हत्या को लेकर पूरा शहर आक्रोषित है। 3 दिन में भी अभी तक अपराधी का कोई सुराग नहीं लगा है इसे पूरा शहर आंदोलित है। इसी को लेकर जवाहर नगर पेट्रोल पंप के पास से केशवपुरा तलवंडी चौराहे तक एक विशाल आक्रोश रैली निकाली गई। कोटा व्यापार महासंघ के अध्यक्ष क्रांति जैन, महासचिव अशोक माहेश्वरी के नेतृत्व में निकाली गई। इस दौरान 18 फरवरी को कोटा बन्द के आह्वान को पूर्ण समर्थन देते हुए कहा कि कोटा ऐतिहासिक बन्द होगा एवं जब तक हत्यारे को गिरफ्तार नहीं किया जाएगा जब तक पूरा शहर आंदोलनरत रहेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *