झालावाड़: मां को चाहिए थी बेटी, बेटा हो गया तो गड्ढे में फेंक कर मार डाला

पति रीट का एग्जाम देने गया था, पत्नी ने पीछे से कर दी हत्या

अकलेरा (झालावाड़). जिले के कामखेड़ा थाना इलाके में 22 जुलाई की रात को एक मां ने अपने नवजात बेटे के साथ ऐसा किया जिसे सुन कर ही कलेजा मुहं को आ जाता है। एक मां होकर उसने अपने ने 3 दिन के बेटे के साथ क्रूरतापूर्ण वारदात को अंजाम दिया। महिला को बेटी चाहिए थी और उसके बेटा हुआ। महिला अस्पताल में तो चुप रही लेकिन छुट्टी होने पर हॉस्पिटल से घर पहुंची और 3 दिन के नवजात को पानी में फेंक दिया, जिससे उसकी मौत हो गई।

पुलिस ने बताया मोगिया बेह गांव की रेखा (28) के पति कालूलाल लोधा (30) का शनिवार को कोटा में रीट का एग्जाम था। वह अकलेरा में किराए का कमरा लेकर रीट की तैयारी कर रहा था। करीब तीन महीने से वह घर नहीं आया था। रेखा के 20 जुलाई को मनोहरथाना हॉस्पिटल में जब बेटा हुआ, तब भी कालूलाल नहीं आ सका था।

22 जुलाई को सास-ससुर और रिश्तेदार रेखा को अस्पताल से छुट्टी दिलवाकर मोगिया बेह गांव ले आए। इसी दिन देर रात करीब 1 बजे रेखा बाहर से घर में घुसी तो देवर भगवान लाल (25) जाग गया। उसने भाभी को आवाज लगाई तो रेखा सकपका गई। सास भी जाग गई। रेखा के हावभाव पर भगवान को शक हुआ।

देवर भगवान लाल ने पूछा तो रेखा ने कहा कि वह बाहर शौच के लिए गई थी। घर में टॉयलेट होने के बावजूद ऐसी हालत में बाहर जाने का कारण भगवान लाल को समझ नहीं आया। उसने कमरे में जाकर देखा तो बच्चा गायब था। रेखा से जोर देकर पूछा तो बोली जंगली जानवर ले गया होगा।

2014 में हुई थी शादी
गौरतलब है कि 10वीं तक पढ़ी-लिखी रेखा की शादी 2014 में कालूलाल लोधा से हुई थी। दोनों के 6 साल का बेटा है। रेखा को लेकर उसके सास-ससुर या देवर कोई बात नहीं करना चाहते। पति कालूलाल का फोन बंद है। ग्रामीणों का कहना है कि रेखा डिप्रेशन में थी। उसकी डिप्रेशन की दवा भी चल रही थी। प्रेग्नेंसी के दौरान दवा बंद कर दी गई थी। जांच अधिकारी सुरेंद्र सिंह ने बताया कि महिला को लगता था कि दो बेटे हुए तो जमीन बहुत कम बांटे में आएगी। ऐसे में एक ही लड़का रहे तो उसे ही सब कुछ मिलेगा। बेटी हुई तो उसकी तो शादी कर देंगे।

घर के पास पानी के गड्ढे में मिला नवजात
रात भर परिवार के लोग घर और आस-पास बच्चे की तलाश करते रहे। रेखा यही जवाब देती रही कि बच्चे के बारे में पता नहीं है। 23 जुलाई की सुबह 9 बजे ससुर रामचंद्र ने कामखेड़ा थाने में शिकायत दी। पुलिस ने बच्चे की तलाश कराई तो घर के पीछे पानी के गड्ढे में उसका शव मिल गया। पुलिस ने आरोपी रेखा को हिरासत में ले लिया। पूछताछ में रेखा ने बताया कि रात 1 बजे वह बच्चे को अपने साथ लेकर गई थी। घर के पीछे जंगल में पानी से भरे गड्ढे में फेंककर आ गई। रेखा ने बताया कि एक बेटा पहले से था, चाहती थी कि बेटी हो।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *