खान मंत्री प्रमोद जैन भाया को मिला राष्ट्रीय खनिज विकास पुरस्कार

  • राजस्थान को पहली बार मिला ये पुरुस्कार, मुख्यमंत्री सहित अन्य मंत्रियों ने दी बधाई

कोटा. राज्य के खान एवं गौपालन मंत्री प्रमोद जैन भाया को मंगलवार को दिल्ली में केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह द्वारा राष्ट्रीय खनिज विकास पुरस्कार प्रदान किए। जिला प्रमुख उर्मिला जैन भाया ने जानकारी देते हुए बताया कि राज्य के खान एवं गोपालन मंत्री प्रमोद जैन भाया के नेतृत्व में प्रदेश में माइन्स के क्षेत्र में खनिज गतिविधियों को ऐतिहासिक गति मिली है।

दिल्ली में केन्द्रीय खान मंत्रालय द्वारा आजादी के अमृत महोत्सव के तहत डॉ. अम्बेडकर इंटरनेशनल सेंटर में आयोजित समारोह में भाया ने पुरस्कार ग्रहण किया। इस पुरस्कार में प्रदेश को 3 करोड़ 60 लाख रुपए, शील्ड एवं प्रशस्ति पत्र प्राप्त हुआ। इस सम्मान पर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत, पार्टी अध्यक्ष गोविंद डोटासरा, पूर्व उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट, नगरीय विकास एवं स्वायत शासन मंत्री शांति धारीवाल सहित मंत्री मंडल और विधायकों सहित दर्जनों कांग्रेस नेताओं ने हर्ष जताया है।

राजस्थान के इतिहास में पहला अवसर
भाया ने बताया कि यह राजस्थान के इतिहास में पहला अवसर है, जब माइन्स क्षेत्र में राजस्थान को राष्ट्रीय स्तर पर सम्मानित किया गया है। राजस्थान में विगत सालों में खनिज खोज, खनन प्लाटों का डिलेनियेशन, केन्द्र सरकार के ई-पोर्टल पर नीलामी, अवैध खनन पर प्रभावी रोक, रात्रिकालीन गश्त व अवैध गतिविधियों के खिलाफ अभियान आदि के माध्यम से विभाग को गति दी गई है।

अप्रधान खनिज के लिए भी राष्ट्रीय स्तर पर पुरस्कार
दिल्ली में आयोजित पुरस्कार वितरण समारोह में मंत्री प्रमोद जैन भाया के साथ ऊर्जा मंत्री डॉ.बी.डी.कल्ला, बारां-अटरू विधायक पानाचंद मेघवाल, राजस्थान के माइन्स, पेट्रोलियम एवं जलदाय विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव डॉ.सुबोध अग्रवाल व निदेशक माइंस के.बी.पण्ड्या आदि उपस्थित रहे।

समारोह में राजस्थान को अप्रधान खनिज के लिए राष्ट्रीय स्तर पर द्वितीय स्थान प्राप्त करने पर प्रशस्ति पत्र, एक ट्राफी एवं 2 करोड़ का पुरस्कार प्रदान किया गया। साथ ही वर्ष 2021-22 में प्रधान खनिज के सात ब्लॉक्स की सफल नीलामी पर वित्तीय प्रोत्साहन स्वरूप एक करोड, 40 लाख तथा वर्ष 2022-23 में प्रधान खनिज के एक ब्लॉक की सफल नीलामी पर वित्तीय प्रोत्साहन स्वरूप 20 लाख रूपए प्रदान किए गए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *