थाईलैंड के प्रधानमंत्री प्रयुत चान-ओ-चा सस्पेंड: 8 साल का कार्यकाल पूरा होने पर भी कुर्सी नहीं छोड़ी; अब केयरटेकर PM संभालेंगे देश

बैंकॉक. थाईलैंड में अगले साल होने वाले चुनाव के पहले प्रधानमंत्री को एक कॉस्टिट्यूश्नल कोर्ट (संवैधानिक अदालत) ने सस्पेंड कर दिया है। प्रधानमंत्री प्रयुत चान-ओ-चा ने 8 साल का कार्यकाल पूरा होने के बाद भी न तो पद छोड़ा था और न ही नए चुनावों का ऐलान किया था। विपक्ष मामला कोर्ट में लेकर गया। कोर्ट ने प्रयुत को सस्पेंड करने का आदेश दिया।

अब सरकार चलाने के लिए एक केयरटेकर PM अपॉइंट किया जाएगा। अगले चुनाव तक यह ही सरकार की जिम्मेदारी संभालेगा। माना जा रहा है कि डिप्टी PM प्रवित वोंगसुवान कमान संभालेंगे।

क्या था मामला?
विपक्ष ने प्रधानमंत्री प्रयुत के कार्यकाल का मुद्दा उठाया था। विपक्ष का कहना था कि उनका 8 साल का कार्यकाल पूरा हो चुका है। लिहाजा, उन्हें पद छोड़कर नए चुनाव का ऐलान करना चाहिए। जब प्रयुत ने पद नहीं छोड़ा तो मामला संवैधानिक अदालत में एक पिटीशन की शक्ल में पहुंचा। इस पर कई दिन से सुनवाई चल रही थी। 5 जजों की बेंच में से 4 ने माना कि प्रयुत का कार्यकाल खत्म हो चुका है।

2014 में PM पद संभाला था
मई 2014 में तख्तापलट के बाद से प्रयुत सत्ता में आए थे। उस वक्त वो आर्मी चीफ थे। प्रयुत ने 24 अगस्त 2014 में पहली बार एक अस्थायी संविधान के तहत प्रधानमंत्री पद संभाला था। 6 अप्रैल 2017 को संविधान में बदलाव किए गए। इसमें कहा गया की किसी भी प्रधानमंत्री का कार्यकाल 8 साल से ज्यादा का नहीं होगा। इसे लेकर उनके समर्थकों का कहना है कि प्रयुत का प्रधानमंत्री कार्यकाल 2017 में शुरू हुआ, जो 2025 में खत्म होगा।

कुछ समर्थकों का कहना है कि नए संविधान के तहत 2019 के आम चुनावों में चान प्रधानमंत्री निर्वाचित हुए थे। इसके मुताबिक, अगर वो मार्च में होने वाले आम चुनाव जीत जाते हैं तो उनका कार्यकाल 2027 तक रहेगा।

भ्रष्टाचार के आरोप लगे
प्रयुत सरकार में थाईलैंड की इकोनॉमी बदहाल रही। देश भारी कर्ज में दब गया। कोरोना काल में भी सरकार स्थिति नहीं संभाल पाई। विपक्ष ने भ्रष्टाचार रोकने में नाकाम रहने के लिए भी प्रयुत सरकार को जिम्मेदार ठहराया। इसके बाद ही जुलाई 2022 में प्रधानमंत्री के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाया गया। प्रयुत को यहां जीत मिली।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *