महाराष्ट्र में 5 व्यापारिक समूहों की 390 करोड़ की बेनामी संपत्ति जब्त, 56 करोड़ मिले कैश

  • आयकर टीम ने बाराती बनकर की शहर में एंट्री, कोड वर्ड था-दुल्हनिया हम ले जाएंगे

जालना. आयकर विभाग ने महाराष्ट्र के जालना में कुछ व्यापारिक समूहों से जुड़े विभिन्न परिसरों में तलाशी अभियान चलाकर भारी मात्रा में नकदी समेत 390 करोड़ रुपए की ‘बेनामी’ संपत्ति का पता लगाया है। इस कार्रवाई में विभाग की कई टीमें शामिल थी।

अधिकारियों ने बताया कि इस कार्रवाई में 56 करोड़ रुपर से अधिक की नकदी, 32 किलोग्राम सोना और 14 करोड़ रुपए के हीरे-जवाहरात मिले हैं। अधिकारियों ने संपत्ति के कुछ दस्तावेज और डिजिटल रिकॉर्ड भी अपने कब्जे में लिए हैं।

प्राप्त जानकारी अनुसार स्टील, कपड़े और रियल एस्टेट के दो व्यवसायी समूह से जुड़े आवासीय और आधिकारिक परिसरों में एक से आठ अगस्त तक छापेमारी की गई थी। इन व्यापारिक समूहों की कर चोरी का सुराग मिलने के बाद आयकर विभाग ने छापेमारी के लिए 260 अधिकारियों की पांच टीमों का गठन किया था। अधिकारियों ने बताया कि छापे मारी अभियान में 120 से अधिक वाहनों का इस्तेमाल किया गया है।

कैश गिनने में कर्मचारियों की तबियत बिगड़ी
आयकर विभाग की टीम को कैश गिनने में करीब 13 घंटे लग गए। कुछ कर्मचारियों की कैश गिनते-गिनते तबीयत खराब हो गई। आयकर टीम ने इस कार्रवाई को इस तरह अंजाम दिया कि किसी को भनक तक नहीं लगी। टीमों ने बाराती बनकर शहर में एंट्री की। गाड़ियों पर शादी के स्टिकर चिपके थे। कुछ पर लिखा था- दुल्हनिया हम ले जाएंगे। यही कोड वर्ड भी था।

आयकर विभाग की टीम को शुरूआती जांच में कुछ पता नहीं चला। बाद में जालाना से 10 किलोमीटर दूर कारोबारी के एक फार्महाउस पर भी कार्रवाई की गई। यहां एक अलमारी के नीचे, बेड के अंदर और एक अन्य अलमारी में थैलों में रखे नोटों के बंडल मिले। नोटों को स्टेट बैंक आॅफ इंडिया की लोकल ब्रॉन्च में ले जाकर गिना गया। इन्हें गिनने में 10 से 12 मशीनें लगीं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *